chhattisgarh news media & rojgar logo

छत्तीसगढ़ में स्कूलों में मोबाइल बैन पर सख्ती, अगर बच्चों के पास फोन मिला तो प्रबंधन की होगी जिम्मेदारी

रायपुर (एजेंसी) | स्कूलों में मोबाइल बैन पर सख्ती शुरू हो गई है। अब शिक्षा विभाग की टीम अचानक स्कूलों में पहुंचकर बच्चों के बैग की जांच करेगी। किसी भी स्कूल के बच्चे के पास मोबाइल मिलने पर प्रबंधन से जवाब तलब किया जाएगा।
अफसरों का कहना है कि स्कूल को यह तय करना है कि बच्चे मोबाइल लेकर न आएं।




इसके लिए वे उन्हें समझाइश दें। साथ ही पैरेंट्स से भी बात करें। शिक्षा विभाग 12वीं तक की कक्षाओं के छात्रों के लिए मोबाइल बैन है। इसके बावजूद शिक्षा विभाग के अफसरों को लगातार शिकायत मिल रही है कि कई स्कूलों में बच्चे मोबाइल लेकर आ रहे हैं। मोबाइल के उपयोग से बच्चों की पढ़ाई पर असर पड़ रहा है।

उन शिकायतों के बाद ही सरकारी और प्राइवेट स्कूल प्रबंधन को पत्र जारी किया गया है। चिट्ठी में ये भी स्पष्ट कर दिया गया है कि अफसरों की एक टीम मोबाइल की जांच करने उड़नदस्ते की तरह निकलेगी और अचानक किसी भी स्कूल में घुसकर बच्चों का बस्ता और जरूरत पड़ने पर जेब चेक किया जाएगा। मोबाइल पर सख्ती से पाबंदी लगाने के लिए और भी कड़े निर्णय लिए जाएंगे।

शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों को भेजी चिट्ठी, उपस्थिति पर भी नजर 

शिक्षा विभाग के अधिकारियों की स्कूलों में शिक्षक व छात्रों की उपस्थिति पर भी नजर है। कई जगह ये शिकायत मिली कि शिक्षक स्कूल से गायब रहते हैं, निर्धारित समय से पहले वे स्कूल से बाहर निकल जाते हैं। इसे जांचने के लिए भी टीम अचानक निरीक्षण करेगी।

कुछ दिनों पहले शिक्षा विभाग की टीम ने जब कुछ स्कूलों का निरीक्षण किया तो वहां शिक्षक गायब मिले थे। कहीं क्लास में बच्चे थे और शिक्षक स्टॉफ रूम में बैठे थे। ऐसे शिक्षकों का एक दिन का वेतन काटा गया था।



Leave a Reply