Shadow

मंत्री ने अगरबत्ती जलाकर किया पूजा-पाठ, परिक्रमा करने के बाद EVM में टीका लगाकर किया मतदान, हर कोई मौन होकर देखता रहा

बेमेतरा (एजेंसी) | मतदान केंद्र में पूजा-पाठ करने के मामले में मंत्री दयालदास बघेल बुरे फंस गये हैं। निर्वाचन आयोग ने दयालदास बघेल को नोटिस जारी कर गुरुवार 11 बजे तक जवाब मांगा है। बघेल नवागढ़ विधानसभा के भाजपा प्रत्याशी हैं। तब तक मतदान केंद्र में पहुंचे दूसरे वोटर भी वोट नहीं डाल पाए। यानि वोटिंग भी थमी रही।

दरअसल मंगलवार को वोटिंग के पहले बघेल ने अपने गृहग्राम कूरा के मतदान केंद्र में अगरबत्ती जलाकर पूजा-पाठ किया था। उन्होंने मतदान केंद्र की परिक्रमा की और ईवीएम में टीका भी लगाया। फिर इवीएम को बकायदा प्रणाम किया। इसके बाद मतदान केंद्र के बाहर नारियल तोड़ा। इसके बाद उन्होंने वोट डाला। यह सब करते हुए उनके साथ मतदान केंद्र में बड़ी संख्या में समर्थक भी थे। उन्होंने इसका वीडियो रिकार्डिंग भी कराई।




आज 11 बजे तक जवाब देने के लिए अल्टीमेटम

तब तक मतदान केंद्र में पहुंचे दूसरे वोटर भी वोट नहीं डाल पाए। यानि वोटिंग भी थमी रही। इस पर पीठासीन अधिकारी ने कोई आपत्ति भी दर्ज नहीं कराई। सीईओ सुब्रत साहू ने संज्ञान लेते हुए रिटर्निंग अफसर नवागढ़ बीएस उइके को नोटिस जारी कर जवाब मांगने का आदेश दिया है।

इस मामले में जब दयालदास से बात करने की कोशिश की गई तो उनके तीनों मोबाइल स्विच ऑफ या आउट ऑफ कवरेज थे।

अधिकारी पर भी हो सकती है कार्रवाई

सूत्रों के मुताबिक बघेल का यह कृत्य लोक प्रतिनिधित्व कानून और आईपीसी की धारा 171 के दायरे में आता है। लोक प्रतिनिधित्व कानून 1951 की धारा 126 के मुताबिक प्रचार थमने के बाद 48 घंटे की सीमा और मतदान वाले दिन केंद्र के भीतर कोई प्रत्याशी स्वयं का प्रचार नहीं कर सकता। वहीं आईपीसी के तहत कोई व्यक्ति, प्रत्याशी या दल, किसी भी बूथ के 100 मीटर के दायरे कोई भी धार्मिक कृत्य करेगा न ही धार्मिक प्रतीक चिन्हों का प्रचार कर सकता है। बेमेतरा जिला निर्वाचन अधिकारी महादेव काबरे के मुताबिक बघेल का जवाब मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी। पीठासीन अधिकारी पर भी फैसला लिया जाएगा।



RO-11243/71

1 Comment

Leave a Reply