chhattisgarh news media & rojgar logo

लइका मड़ई 2019: सीएम भूपेश बघेल बच्चों के साथ खेले गोटा और हाथों पर नचाया भौंरा

रायपुर (एजेंसी) | मौका था लईका मड़ई 2019 के समापन का जहाँ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पारंपरिक खेलों के साथ एंजॉय किया। वे बच्चों को अपने बीच पाकर गदगद हो गए और उन्हें भी अपने बचपन के खेलों की याद आ गई। गौरतलब है कि प्रदेश में पारंपरिक खेलों को जीवित रखने के लिए हर साल तीन दिवसीय लईका मड़ई का आयोजन किया गया। जिसके समापन के अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हाथों पर लट्‌टू नचाया और बच्चों के साथ बैठकर गोंटा भी खेला।

मुख्यमंत्री बच्चों के बीच खुद को पाकर गदगद हो गए। उन्हें पारंपरिक बचपन के खेल याद आ गए और उन्होंने बच्चों को उसे खेलकर बाकायदा दिखाया भी। मुख्यमंत्री बघेल ने बच्चों को इनाम देकर प्रोत्साहित किया।




शारीरिक व्यायाम की प्राचीन तकनीकों और परंपरागत खेलों को फिर से जीवित करने के उद्देश्य से जिला स्तर पर शुरू किए गए लइका मड़ई का उद्घाटन मंगलवार को स्कूल शिक्षा मंत्री डा. प्रेमसाय सिंह ने किया। बूढ़ापारा के आउटडोर स्टेडियम में जिलेभर के छात्र-छात्राएं एकजुट हुए और तीन दिवसीय भव्य आयोजन में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।

इन पारंपरिक खेलों में बच्चों ने लिया भाग 

रायपुर नगर निगम और जिला शिक्षा विभाग की ओर से आयोजित लइका मड़ई में जिलेभर के 1650 छात्र-छात्राएं तथा 1410 शिक्षक, शिक्षिकाएं शामिल हुए। मडई में खो-खो, कबड्डी, त्रिटंगी, फुगड़ी, कुश्ती, पिट्ठुल, दौड़, लंबी कूद, बैडमिंटन, वऍलीबाल, गेड़ी दौड़, भौंरा, डाॅजबाल, रिले रेस, क्रिकेट, कैरम आदि खेल आयोजित किए गए।

सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित हुए 

सांस्कृतिक कार्यक्रम के तहत एकल व सामूहिक वादन, गायन, नृत्य, नाटक तथा चित्रकला प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। शिक्षा, शिक्षिकाओं की शैक्षणिक सामान के कबाड़ से बने जुगाड़ की प्रदर्शनी लगायी गई।



Leave a Reply