chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया ध्वजारोहण, बारिश के चलते सांस्कृतिक कार्यक्रम रद्द

रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज सुबह 8.55 बजे राजधानी के पुलिस परेड ग्राउंड में राज्य स्तरीय गणतंत्र दिवस मुख्य समारोह में ध्वजारोहण किया। फिर उन्होंने परेड की सलामी ली। मुख्यमंत्री बघेल नेहरू टोपी पहनकर एक अलग अंदाज में नजर आए। अपने संबोधन की शुरुआत उन्होंने छत्तीसढ़ी में की। संबोधन के दौरान उन्होंने किसानों की सिंचाई की बकाया राशि (270 करोड़) माफ करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अन्नदाताओं को उनका हक मिलना चाहिए। बारिश के चलते सांस्कृतिक कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं।




मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की आजादी में छत्तीसगढ़ के वीरों का भी अतुलनीय योगदान रहा है। उन्होंने यहां के वीरों को याद किया। उन्होंने रवि फसलों के लिए बंद पड़ी सिंचाई सेवाओं को फिर से शुरू करने का निर्णय लिया है। वनांचल में रहने वाले आदिवासियों के लिए सौगात देते हुए मुख्यमंत्री ने तेंदुपत्ता को 2500 रुपए मानक प्रति बोरा से बढ़ाकर 4 हजार रुपए मानक प्रति बोरा करने का निर्णय लिया है।

मुख्यमंत्री बघेल के भाषण के मुख्य अंश:

  • मुख्यमंत्री बघेल ने छत्तीसगढ़ी में दिया संबोधन, किसानों की सिंचाई की बकाया राशि 270 करोड़ रुपए माफ करने की घोषणा की।
  • मुख्यमंत्री नेहरू टोपी में एक अलग अंदाज में नजर आए, उन्होंने छत्तीसगढ़ के वीरों को याद किया।
  • 15 साल बाद कांग्रेस पार्टी से मुख्यमंत्री ने ली परेड की सलामी।
  • सीएम ने अपने भाषण में छत्तीसगढ़ी में दिया संबोधन।

शराबबंदी पर बोले सीएम

मुख्यमंत्री ने शराबबंदी के बारे में बोलते हुए कहा कि इसके लिए एक समिति बनाई गई थी। इसकी अनुशंसा का अध्ययन किया। इसकी अनुशंसा रद्द करने के साथ ही दो नई समितियों का गठन किया है। ये समितियां इस बात का भी अध्ययन करेंगी कि जिन राज्यों में शराबबंदी की गई वहां विफल कैसे हुई। इन बातों का अध्ययन करने के बाद ही फैसला लिया जाएगा। शराब एक सामाजिक बुराई है। इसे लेकर प्रदेश में व्यापक जनजागरण अभियान भी चलाया जाएगा।

अभिव्यक्ति की आजादी पर खतरा हो गया था

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि लोकतंत्र की मजबूती तभी है जब उसके चारो स्तंभ मजबूत हों। पिछली सरकार में राज्य में कहीं न कहीं अभिव्यक्ति की आजादी छिन रही थी। इसके लिए इस सरकार ने पत्रकार सुरक्षा कनून बनाने पर काम शुरू कर दिया है।

सांस्कृतिक कार्यक्रम रद्द 

राजधानी में पूरी रात बारिश होती रही। सुबह तक परेड ग्राउंड गीला हो गया था। हल्की बूंदाबादी के बीच ध्वजारोहण शुरू हुआ। बारिश के चलते ग्राउंड में कुर्सियां भी खाली रहीं। गणतंत्र दिवस के मुख्य कार्यक्रम में काफी कम मात्रा में दर्शक पहुंचे। बारिश के चलते सांस्कृति कार्यक्रम रद्द कर दिए गए।

दुर्ग में आयोजित कार्यक्रमों में होंगे शामिल

मुख्यमंत्री 26 जनवरी को परेड ग्राउंड में ध्वजारोहण करने के बाद दोपहर 12.30 बजे पुलिस ग्राउंड से हेलीकॉप्टर द्वारा दुर्ग के ग्राम असोगा तेलीगुंड्रा और भनसुली (केसरा) पहुंचकर स्थानीय कार्यक्रम में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री 3.40 बजे रायपुर लौटेंगे। वे शाम 5 बजे राजभवन में आयोजित स्वागत समारोह में भाग लेंगे। वे शाम 7 बजे महंत घासीदास संग्रहालय में सांस्कृतिक संध्या में शामिल होंगे।



Leave a Reply