Shadow

गढ़बो डिजिटल छत्तीसगढ़ : सारक्षता भवन दुर्ग में ई-साक्षरता केन्द्र का शुभारंभ

रायपुर। मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मक साक्षरता कार्यक्रम अंतर्गत आज नगर पालिका निगम दुर्ग परिक्षेत्र में ’गढ़बो डिजिटल छत्तीसगढ़’ के तहत साक्षरता भवन दुर्ग में ई-साक्षरता केन्द्र का शुभारंभ विधायक श्री अरूण वोरा द्वारा की-बोर्ड का बटन दबाकर किया गया। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में संचार क्रांति का युग है। इसमें सभी माता-बहनों को डिजिटली साक्षर होना जरूरी है। छत्तीसगढ़ सरकार का यह सबसे नवाचारी कार्यक्रम है। यह योजना बहुत अच्छी है, इसे प्रत्येक वार्ड में प्रारंभ किया जाना चाहिए।

दुर्ग जिले में यह चौथा केन्द्र है। इसके पूर्व नगर निगम भिलाई परिक्षेत्र में खुर्सीपार, नगर पंचायत पाटन और नगर पंचायत उतई ई-साक्षरता केन्द्र प्रारंभ हो चुके है। इन केन्द्रों में 14 से 60 आयु वर्ग की माता-बहनों को डिजिटल साक्षर किया जा रहा है। एक माह की प्रशिक्षण अवधि होती है, जिसमें 25-30 शिक्षार्थियों का एक बैच संचालित होता है। प्रशिक्षण में निर्धारित पाठ्यक्रम को पूर्ण करने के बाद जिला स्तर पर आनलाईन आंतरिक मूल्यांकन और राज्य स्तर पर बाह्यमूल्यांकन चिप्स द्वारा किया जाता है। ई-साक्षरता केन्द्र में नियुक्त प्रशिक्षित ई-एजुकेटर द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। सफल शिक्षार्थियों को ऑनलाईन ही डिजिटल साक्षर होने का प्रमाण-पत्र प्रदान किया जाता है। योजना का लाभ शहरी क्षेत्र की कमजोर और वंचित क्षेत्र की महिलाओं को मिल रहा है। वे दैनिक जीवन में इसका उपयोग कर तकनीकी रूप से आत्मनिर्भर होकर अपने जीवन को और अधिक सरल एवं बेहतर बना रही है। डिजिटल साक्षरता के अतिरिक्त इन्हें व्यक्तित्व विकास, श्रेष्ठ पालकत्व, वित्तीय, कानूनी, निर्वाचन साक्षरता, आत्मरक्षा, जीवन मूल्य, कौशल विकास जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर कुशल प्रशिक्षित व्यक्तियों द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है।

राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण के नोडल अधिकारी श्री प्रशांत पाण्डेय ने कार्यक्रम के विषय में बताया कि गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की परिकल्पना को साकार करने के लिए यह साक्षरता कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। ’’डिजिटल साक्षर बनव, नवा छत्तीसगढ़ गढ़व’’ के नारे के साथ उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य में 36 केन्द्रों की स्थापना मुख्यमंत्री के हाथों की गई। दुर्ग जिला साक्षरता अभियान में अविभाजित मध्यप्रदेश में अग्रणी भूमिका में रहा है। कार्यक्रम का संचालन डॉ. रजनी नेलसन और आभार प्रदर्शन सहायक संचालक श्रीमती पुष्पा पुरूषोत्तम ने किया। इस अवसर पर सहायक परियोजना समन्वयक श्री विवेक शर्मा, श्री आई.के. रामटेके और डी.एम.सी.एस.एस.ए. श्री सुरेन्द्र पाण्डेय भी उपस्थित थे।

Leave a Reply