chhattisgarh news media & rojgar logo

मार्मिक VIDEO: कलाकार पूनम तिवारी ने ‘चोला माटी के हे राम’ गाकर दी संगीतज्ञ बेटे को अंतिम विदाई, दोस्तों ने बजाए वाद्ययंत्र

राजनांदगांव (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ में राजनांदगांव के रंगकर्मी और संगीतकार सूरज तिवारी (30) का शनिवार को निधन हो गया। सूरज की इच्छा के अनुसार अंतिम यात्रा गीत और संगीत के साथ निकाली गई। घर से शव यात्रा निकलने से पहले लोक कलाकार मां पूनम तिवारी ने बेटे की अर्थी के सामने जीवन की सच्चाई पर आधारित लोकगीत ‘चोला माटी के हे राम, एखर का भरोसा चोला माटी के हे राम’ गाकर अंतिम विदाई दी।

दाउ मंदराजी अलंकरण से सम्मानित कलाकार मां पूनम मंचों पर यह गीत कई बार गा चुकी हैं, लेकिन जब बेटे के शव के सामने यह दर्द भरा छत्तीसगढ़ी लोकगीत गाया तो वहां मौजूद सारे लोग फफक पड़े। कला जगत से जुड़े सूरज के साथियों ने तबला, हारमोनियम में संगत देते हुए श्रद्धांजलि दी। रंगछत्तीसा के संचालक, रंगकर्मी व संगीतकार सूरज हदय रोग से पीड़ित थे।

26 अक्टूबर को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। शनिवार को लोककला, संगीत का उभरता सूरज अस्त हो गया। सूरज के निधन से तिवारी परिवार सहित लोककला, संगीत से जुड़े लोग शोक में डूब गए।

Leave a Reply