chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

#BreakingNews भिलाई स्टील प्लांट में बड़ा हादसा, गैस सप्लाई लाइन में विस्फोट, 12 की मौत

दुर्ग/भिलाई (एजेंसी)। आज मंगलवार को दोपहर 2 बजे भिलाई इस्पात संयंत्र में एक बड़ा हादसा हो गया। कोक ओवन के पास गैस सप्लाई लाईन में मरम्मत के दौरान गैस का रिसाव होने लगा, जिसके बाद उसमे भयंकर विस्फोट हो गया। इस हादसे में अभी तक लगभग 12 लोगों की मौत हो गई है।

आपको बता दें इस हादसे में 11 लोग घायल हुए है। हादसे में 12 लोगों की मौत हो चुकी है। घायलों को भिलाई के सेक्टर- 9 के जवाहर लाल नेहरू अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि 2 की हालत गंभीर बताई जा रही है। मरने वालो की संख्या बढ़ सकती है।

बताया जा रहा है ये सभी मज़दूर पाइप लाइन की मरम्मत करने के लिए गए थे। तभी पाइप लाइन में जहरीली गैस का रिसाव होने लगा। वेल्डिंग के दौरान निकली चिंगारी से धमाका हो गया। जिससे वहां मौजूद लोग आग की लपटों और  जहरीली गैस की चपेट में आ गए। जिससे चार लोगों की मौत मौके पर ही हो गई। पाइप लाइन में ब्लास्ट होने के बाद आग और धुआँ फ़ैल गया । प्लांट में धुआं भर जाने की वजह से लापता कर्मचारियों को ढूंढने में मुश्किलें आईं। हादसे के वक्त प्लांट में 25 लोग मौजूद थे।




सेल की बैटरी कॉम्प्लेक्स में हुआ धमाका

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने कहा कि प्लांट के कोक ओवन बैटरी कॉम्प्लेक्स नंबर 11 में धमाका हुआ था। इस मामले में केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने भी रिपोर्ट मांगी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जून में ही यहां के विस्तारित संयंत्र का लोकार्पण किया था। हादसे के बाद बीएसपी के आला अधिकारी व पुलिस अधिकारी अस्पताल पहुंचे है।

रेलवे को आपूर्ति करने वाला एकमात्र प्लांट

स्टील अथॉरिटी की वेबसाइट के मुताबिक, भिलाई का स्टील प्लांट ही भारतीय रेलवे को वर्ल्ड क्लास रेल मुहैया कराने वाला इकलौता सप्लायर है। यहां स्टील की सालाना उत्पादन क्षमता 3.15 मिलियन टन है।

2014 में हुए हादसे में 6 लोगों की जान गई थी

भिलाई इस्पात संयंत्र में जून-2014 में जहरीली गैस के रिसाव से दो उप महाप्रबंधकों समेत छह लोगों की मौत हो गई थी और करीब 40 लोग घायल हो गए थे। अगस्त 2018 में भी स्टील प्लांट में हादसे हुए थे।



Leave a Reply