chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

टूरिज्म कंपनी के संचालक ने फूड इंस्पेक्टर की नौकरी दिलवाने के नाम पर 7 लाख रुपए ठगे

बिलासपुर (एजेंसी) | फूड इंस्पेक्टर बनवाने के नाम पर एसके टूरिज्म सर्विस के डायरेक्टर ने सात लाख रुपए ठग लिए। चार वर्ष तक जब नौकरी नहीं लगी तो फरियादी ने अपनी रकम वापस मांगी, लेकिन रकम वापस करने की जगह आरोपी झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देने लगा। रुपए वापस न मिलते देख इस मामले की शिकायत वर्ष 2018 में सिविल लाइन पुलिस थाने में की गई थी। तभी से आरोपी फरार था। शनिवार की रात पुलिस ने आरोपी को धमतरी से गिरफ्तार कर लिया।

राजभवन में पदस्थ भृत्य ने कराई थी आरोपी से पहचान

संतराम साहू पिता ताजन प्रसाद साहू निवासी मोहदा हिर्री की पहचान रायपुर राजभवन में पदस्थ भृत्य रामबहादुर थापा से थी। रामबहादुर ने ही संतराम को आरोपी योगेश सोनवानी से मिलवाया जो स्वयं को एसके टूरिज्म सर्विस का डायरेक्टर बताता था। वर्ष 2015 में योगेश सोनवानी ने संतराम साहू से फूड इंस्पेक्टर पद पर नौकरी लगवाने के नाम पर 7 लाख रुपए लिए थे।

लेकिन तीन वर्ष तक आरोपी योगेश जब संतराम की नौकरी नहीं लगवा पाया तो उसने यह बात रामबहादुर थापा से कही। रामबहादुर ने संतराम को रायपुर बुलाया और कहा कि वह चिंता नहीं करे उसके रुपए वापस मिल जाएंगे। जब कई महीने तक संतराम को अपने रुपए वापस नहीं मिले तो संतराम ने 16 फरवरी 2018 को इसकी शिकायत सिविल लाइन पुलिस थाने में दर्ज करा दी।

आरोपी योगेश सोनवानी तभी से फरार था। फरारी के दिन आरोपी ने मुम्बई, गोवा, ओडिशा और आंधप्रदेश में बिताए। सिविल लाइन टीआई कलीम खान ने बताया कि शनिवार शाम पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी योगेश सोनवानी धमतरी में देखा गया है। टीआई ने एक टीम बनाकर धमतरी भेजी जहां से ठगी के आरोपी योगेश सोनवानी को गिरफ्तार कर लिया गया। रविवार को इससे पूछताछ की गई तथा शाम को रिमांड पर जेल भेज दिया गया।

Leave a Reply