chhattisgarh news media & rojgar logo

बस्तर: पुलिस कैंप का विरोध फिर हुआ शुरू, दिल जीतने घायल किसान का जवानों ने इलाज किया

bastar-injured-villager-treatment-by-jawans

दंतेवाड़ा (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिले दंतेवाड़ा के गांव पोटाली में एक बार फिर से सुरक्षा बल के कैंप का विरोध किया जा रहा है। शनिवार को सैकड़ो की संख्या में पोटाली बाजार स्थल में ग्रामीण जमा हुए और नारेबाजी की । ग्रामीणों ने दावा किया कि पोटाली की जिस जमीन पर कैम्प खोला गया है उस जमीन पर ग्रामीणों का अधिकार है।

ग्रामीणों ने कहा कि जब तक कैंप नहीं हटेगा विरोध जारी रहेगा। सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी भी इस विरोध में शामिल होने पहुंची। इस विरोध को लेकर पुलिस का मत है कि क्षेत्र में नजूल भूमि पर कैंप बनाया गया है, यह विरोध नक्सलियों के इशारे पर हो रहा है। इसके अलावा दवाओं और जरूरी सामानों को ग्रामीणों में बांटकर फोर्स ग्रामीणों का दिल जीतने की कोशिश कर रही है।

कोर्ट जाने की तैयारी

कैंप का विरोध कर रहे ग्रामीणों के बीच पहुंची सोनी सोरी ने कहा यह विरोध जारी रहेगा। कैंप, बिना ग्राम पंचयात की सहमति से खोला गया है। उन्होंने कहा कि इसके विरोध में न्यायालय भी जाएंगे। सोनी सोरी ने कैंप  जाने की अनुमति भी लेनी चाही, मगर सुरक्षा कारणों के मद्देनजर अधिकारियों ने इसकी इजाजत नहीं दी। इस जगह पर अनिश्चितकालीन धरना देने की तैयारी भी प्रदर्शनकारी कर रहे थे, मगर शाम होते ही सभी घरों की ओर लौट गए।

फसल काट रहे किसान को सांप ने डसा, जवानों ने बचाई जान

खेत मे धान काट रहे निलावाया के ग्रामीण हड़मा को किसी जहरीली सांप ने काट लिया। हड़मा की हालत बिगड़ती जा रही थी। इस दौरान गश्त पर निकले डीआरजी के जवानों ने किसान की मदद की। किसान को पोटाली कैंप ले जाया गया जहां उसका इलाज किया गया। किसान को लेने  एम्बुलेंस भी पहुंची। दावा किया जा रहा है कि सालों बाद  पोटाली बुरगुम गांव तक एम्बुलेंस आ सकी। सड़क की मरम्मत जवानों ने की इस चलते यह मुमकिन हो पाया। इससे पहले यहां खाट पर लादकर मरीजों को ले जाया जाता था।

Leave a Reply