chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

बस्तर के दो किसानों को के जेल भेजने के मामले में दफ्तर से गिरफ्तार किए गए उद्यानिकी विभाग अधीक्षक व ग्रामीण विस्तार अधिकारी

जगदलपुर (एजेंसी) | राज्य सरकार के किसान क़र्ज़ माफ़ी के बाद भी क़र्ज़ अदा नहीं करने पर बस्तर में दो किसानों को ठगने और फिर जेल भेजने के मामले को गंभीरता से लेते हुए सरकार ने कार्यवाही की है। पुलिस ने सोमवार को उद्यानिकी विभाग के अधीक्षक आरके मिश्रा और ग्रामीण विस्तार अधिकारी उपेंद्र चौधरी को गिरफ्तार कर लिया। दोनों की गिरफ्तारी बस्तर स्थित उद्यानिकी विभाग के दफ्तर से की गई।

पुलिस ने दोनों अधिकारियों पर फर्जीवाड़े करने का आरोप लगाकर गिरफ्तार किया है। वही आपको बता दे इस मामले में अब तक चार लोग गिरफ्तार हो चुके हैं जबकि एसबीआई बैंक के मैनेजर समेत तीन अन्य लोग फरार हैं। पुलिस फरार आरोपियों की तलाश में लगातार दबिश दे रही है।

आरोपियों पर अभी तक कोई रिमांड नहीं

बताया जा रहा है कि आरोपियों के घरों तक पुलिस पहुंच चुकी है। इस मामले में पुलिस ने अभी तक किसी भी आरोपी को पुलिस रिमांड में नहीं लिया है।बताया जा रहा है कि यदि पुलिस सरकारी अफसरों और एजेंटों को रिमांड में लेकर पूछताछ करती तो कई बड़े खुलासे होते। सूत्रों के अनुसार सिर्फ बस्तर ब्लाक में ही सौ से ज्यादा किसानों को इसी गैंग ने ठगा है।

क्या था मामला

सोमवार को गिरफ्तार किए गए सरकारी अधिकारियों की भूमिका इस ठगी के मामले में बेहद महत्वपूर्ण थी। पुलिस अफसरों  के मुताबिक उद्यान अधिकारी (अधीक्षक) आरके मिश्रा ने किसान के खेत में ड्रिप सिस्टम लगे बिना ही काम पूर्ण होने का सर्टिफिकेट जारी कर दिया। ग्रामीण विस्तार अधिकारी रूपेंद्र चौधरी ने फील्ड में ड्रिप सिस्टम नहीं लगने के बाद भी फील्ड रिपोर्ट बनाई और उद्यान अधिकारी के साथ मिलकर कार्य पूर्ण होने का सर्टिफिकेट जारी करने में सहमति दी थी। ऐसे में इस फर्जीवाड़े में इन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Leave a Reply