chhattisgarh news media & rojgar logo

बालोद: 15 मिनट चक्काजाम, फुटकर व्यापारियों ने धान फेंककर की नारेबाजी, 183 गिरफ्तार

dhan-kharidi-deobhog

बालोद (एजेंसी) | शुक्रवार को दोपहर 1 बजे बालोद-दुर्ग-धमतरी मार्ग पर झलमला तिराहे के पास अपनी मांगों को लेकर फुटकर व्यापारी संघ ने चक्काजाम की कोशिश की। जिन्हें 10 से 15 मिनट के भीतर वहां मौजूद पुलिस जवानों व अधिकारियों ने उठवा दिया। 183 व्यापारियों की गिरफ्तारी हुई।

जिन्हें सरयू प्रसाद अग्रवाल स्टेडियम को अस्थाई जेल बनाकर रखा गया था। सभी के खिलाफ धारा 107, 116 प्रतिबंधात्मक कार्रवाई कर रिहा किया गया। इस चक्का जाम की कोशिश और प्रदर्शन के बाद भी बात नहीं बनने पर अब फुटकर व्यापारी संघ मुख्यमंत्री निवास घेरने की तैयारी कर रहे हैं।

जिलाध्यक्ष कन्हैया लाल साहू ने कहा कि गिरफ्तारी देने के बाद हम एसडीएम के पास गए तो उन्होंने कहा मैं कुछ नहीं कर सकती। कलेक्टर के पास जाइए। कलेक्ट्रेट गए तो वहां अपर कलेक्टर भी यही कहने लगे कि मैं भी शासन के आदेशों से बंधा हुआ हूं। जब तक ऊपर से कोई आदेश नहीं आता, कुछ नहीं कर सकते। मांगों पर कोई सुनवाई ना होते देख अब सीएम निवास का ही घेराव करने जाएंगे।

4-5 गाड़ियों में ले गए

जब गिरफ्तारी हुई तो कई व्यापारी जेल भेजे जाने के डर से सड़क से उठकर आसपास के होटल, पान ठेले और दुकानों में जाकर छिप गए। कोई ठेले में पान खाने चला गया। जब रैली आई थी तो भीड़ बहुत थी। लेकिन जब पुलिस उन्हें चार से पांच गाड़ियों में गिरफ्तार कर ले गई तो वहां 183 व्यापारी ही निकले।

झलमला तिराहे पर जाम में फंसी रही यात्री बसें

गंगा मैया मंदिर परिसर से व्यापारियों की लंबी रैली नारेबाजी के साथ झलमला तिराहे पहुंची थी। जहां सीएम भूपेश बघेल के खिलाफ नारेबाजी की गई। कुछ ही देर में व्यापारी सड़क घेर चक्काजाम की कोशिश करने लगे। तीनों रास्ते पर करीब 15 मिनट तक यात्री बसें व राहगीर भी फंसे हुए थे।

हालात ना बिगड़े इसलिए तत्काल डीएसपी दिनेश सिन्हा व टीआई गैंद सिंह ठाकुर ने व्यापारियों को गिरफ्तारी की चेतावनी दी। उन्हें सड़क से हटने कहा। लेकिन व्यापारी अपनी जिद पर अड़े थे। कई व्यापारी सड़क पर बैठने लगे। इतने में पुलिस ने व्यापारियों को एक-एक कर गाड़ियों में बैठाना शुरू कर दिया और निकल गए।

एक कट्टा धान फेंका

प्रदर्शन के दौरान व्यापारी संघ एक कट्टा धान सड़क पर फेंकने लगे। कहने लगे कि जब हमारे वाहनों को नहीं छोड़ा जा रहा है। हम पर घर घुसकर कार्रवाई की जा रही है तो ऐसे में हम कारोबार कैसे करेंगे। जिलाध्यक्ष सहित अन्य व्यापारियों का कहना था कि जिले के सभी थाना क्षेत्र में 64 गाड़ियों को जब्त कर एक हफ्ते से रखा गया है।

Leave a Reply