chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

प्रदेश में 76.35 % हुई वोटिंग, चुनाव आयोग ने जारी किए फाइनल आंकड़े, वर्ष 2013 की तुलना में मतदान में 1.03 फीसदी की कमी आई

रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 के दूसरे चरण में 72 सीटों पर कल हुए मतदान में कुल 76.35 फीसदी मतदान हुआ है। इससे पहले कल शाम को जारी वोटिंग प्रतिशत में 71.93 प्रतिशत बताया गया था। जिसमें बदलाव होने की संभावाना बताते हुए मतदान प्रतिशत और बढ़ सकता है कहा गया था।

चुनाव आयोग ने बुधवार दोपहर को  दिए। बुधवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने पत्रवार्ता में फाइनल आंकड़े जारी करते हुए बताया कि 12 नवंबर को हुए प्रथम चरण के 18 सीटों पर 76.39 प्रतिशत मतदान हुआ था। दूसरे चरण में 20 नवंबर को 72 सीटों पर 76. 34 प्रतिशत मतदान हुआ है। इस प्रकार दोनों चरण के मतदान में राज्य की सभी 90 सीटों पर कुल 77.40 प्रतिशत मतदान हुआ है। हालांकि तमाम कोशिशों और दावों के बावजूद वर्ष 2013 की तुलना में मतदान में 1.03 फीसदी की कमी आई।




चुनाव आयोग के आंकड़ों की बात करें ताे सबसे ज्यादा मतदान धमतरी के कुरुद विधानसभा में लोगों ने रिकार्ड वोट डाले। यहां पर 88.99 फीसदी मतदान हुआ। जबकि राजधानी रायपुर का उत्तरी क्षेत्र प्रदेशभर में सबसे पीछे रह गया। यहां पर सबसे कम 60.30 प्रतिशत वोटर ही मतदान करने के लिए निकले। जबकि पिछले चुनाव में मतदान 77.42 प्रतिशत हुआ था। इस बार सबसे ज्यादा मतदान कुरूद में 88.99 प्रतिशत हुआ है, वहीं सबसे कम रायपुर उत्तर में 60.30 प्रतिशत वोटिंग हुई है।

उन्होंने शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए सभी मतदाताओं, दिव्यांगजनों, तृतीय लिंग समुदाय के मतदाताओं, निर्वाचन कार्य में लगे कर्मियों, सुरक्षा में लगे पुलिस एवं मीडिया को धन्यावाद दिया है। साथ ही बताया कि शतायु मतदाताओं ने बड़ी संख्या में मतदान किया है। जिसमें महिला अधिक रही। उन्होंने बताया कि मतदान को लेकर मतदाताओं में विशेष उत्साह रहा।

दूसरे चरण में कुल विधानसभा 72

मतदाता : 15400596
पुरुष मतदाता : 7753337
महिला मतदाता : 7646382
थर्ड जेंडर : 877

द्वितीय चरण के मतदान की खास बातें

  • द्वितीय चरण में 11921 कर्मचारियों को इलेक्ट्रॉनिक बैलेट पेपर भेजे गए।
  • निर्वाचन कार्य में लगे 50924 कर्मचारियों को भेजे गए पोस्टल बैलेट पेपर।
  • सुरक्षा के साथ स्ट्रांग रूम में पहुंचाई गई ईवीएम।
  • राजनीतिक दलों और प्रत्याशियों के सामने स्ट्रांग रूम में रखी गईं ईवीएम।
  • केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल की 28 कंपनियां ईवीएम की सुरक्षा में लगाई गईं।
  • प्रत्येक स्ट्रांग रूम को डबल लॉक से सील किया गया है।
  • स्ट्रांग रूम की निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।

बच्चे के साथ मतदान करने आए माता-पिता ने बच्चे का नाम रखा विधान

दो दिन के बच्चे के साथ मतदान करने आए माता-पिता ने बच्चे का नाम विधान रखा है। यह नाम लोकतंत्र में आस्था को मजबूत करने के लिए रखा गया है। सौ वर्ष की उम्र पार करने वाले मतदातओं ने भी बड़ी संख्या में मतदान किया, इसमें भी सबसे ज्यादा महिला शतायु मतदाता थीं। कोरिया के हिमांशु मिश्रा ने 50 दिन तक कोमा में रहने के बावजूद अपने मतधिकार का प्रयाेग किया।



Leave a Reply