chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

chhattisgarh

छत्तीसगढ़: सोशल मीडिया में वीडियो हुआ था वायरल, नाबालिग की पिटाई कर रहे तीनों आरक्षक निलंबित

छत्तीसगढ़: सोशल मीडिया में वीडियो हुआ था वायरल, नाबालिग की पिटाई कर रहे तीनों आरक्षक निलंबित

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | हाल ही में सोशल मीडिया (Social Media) में वायरल हुए वीडियो में जो तीन पुलिस आरक्षक एक नाबालिग लड़के की पिटाई कर रहे थे उन सभी को एसएसपी ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। नाबालिग बच्चे से पूछताछ के दौरान मारपीट करते हुए किसी ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में अपलोड कर दिया जो कि वायरल हो गई। इस वीडियो ने सरोना स्टेशन पर तीन आरक्षक एक लड़के के साथ मारपीट करते नजर आ रहे हैं। किसी युवक ने सरोना स्टेशन पर तीन आरक्षकों को ऐसा व्यवहार करते देखा और तुरंत उनका वीडियो बना सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। जिसके बाद इस मामले को एसएसपी आरिफ शेख ने गंभीरता से लेते हुए आरक्षकों को निलंबित कर दिया है। एडिशनल एसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया कि मंगलवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था जिसको प्रारंभिक तौर पर देखने पर ऐसा महसूस हुआ कि स्थानीय रायपुर पुलिस के आ
राजनांदगाव छत्तीसगढ़ में नक्सली मुठभेड़ जारी, ७ नक्सलियों के मारे जाने की खबर

राजनांदगाव छत्तीसगढ़ में नक्सली मुठभेड़ जारी, ७ नक्सलियों के मारे जाने की खबर

chhattisgarh
राजनांदगाव, विशेष सूत्रों से जारी खबर छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित राजनांदगांव के इलाके में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. सीएएफ, जिला बल और डीआरजी की संयुक्त कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने यहां 7 नक्सली मुठभेड़ में मार गिराए है. यह घटना राजनांदगांव के पथाना बागनदी और बोरतलाव के बीच महाराष्ट्र सीमा से सटे शेरपार और सीतागोटा के बीच हुई है. सुरक्षाबलों को शेरपार और सीतगोटा के बीच घाटियों में नक्सलियों के छिपे होने की सूचना मिली थी. जिसके आधार पर जिला बल, डीआरजी और सीएएफ की एक टीम इस इलाके के लिए रवाना की गई थी. जहां आज सुबह 08.00 से माआवोदियों के साथ मुठभेड़ चल रही है. मुठभेड़ में अभी तक 07 नक्सलियों के शव बरामद किए जा चुके हैं.  कैंप भी ध्वस्त कर दिए हैं. घटना स्थल से सुरक्षाबलों को AK-47, 303 राइफल, 12 बोर बंदूक, सिंगल शाट रायफल सहित और अन्य गोला बारूद बरामद हूआ है. नक्सलियों औ
प्रदेश भर में धूमधाम से मनाई गई हरेली, पूजा-पाठ से हुई दिन की शुरुआत, गांव-गांव खो-खो और फुगड़ी जैसे खेलों का हुआ आयोजन

प्रदेश भर में धूमधाम से मनाई गई हरेली, पूजा-पाठ से हुई दिन की शुरुआत, गांव-गांव खो-खो और फुगड़ी जैसे खेलों का हुआ आयोजन

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ में गुरुवार को हरेली पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। किसान जहां खेती में उपयोग होने वाले औजारों की पूजा कर रहे हैं, वहीं घरों में छत्तीसगढ़ी पकवान भी बनाए जा रहे हैं। लोग अपने-अपने कुल देवाताओं की पूजा अराधना भी कर रहे हैं। सरकार की ओर से हरेली पर्व को राज्य स्तर पर मनाया जा रहा है। राज्य बनने के बाद पहली बार हरेली को राज्य सरकार एक उत्सव के रूप में मना रही है। इस उत्सव पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने निवास से बैलगाड़ी पर सवार होकर निकलेंगे। राज्य के पहले पारंपरिक त्यौहार हरेली की शुरुआत भूपेश बघेल राजधानी रायपुर में करेंगे, जहां पर वे सीएम हाउस से बैलगाड़ी पर सवार होकर संस्कृति विभाग तक जाएंगे। वहां वे पारंपरिक व्यंजनों का स्वाद लेकर बिलासपुर जाएंगे। इस उत्सव के लिए प्रदेश के सभी मंत्रियों और प्राधिकरणों के अध्यक्षों, उपाध्यक्षों को अलग-अलग जिलों की
मंत्री ताम्रध्वज साहू और गुरू रूद्रकुमार ने राजीव भवन में लोगो की समस्याओं को सुना, ‘दोपहिया वाहन चालकों की सड़क पर नहीं होगा फाईन’

मंत्री ताम्रध्वज साहू और गुरू रूद्रकुमार ने राजीव भवन में लोगो की समस्याओं को सुना, ‘दोपहिया वाहन चालकों की सड़क पर नहीं होगा फाईन’

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | प्रदेश के गृह, जेल, लोकनिर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में कांग्रेस पदाधिकारियो, कार्यकर्ताओ और जनसामान्य से मुलाकात कर उनकी समस्यायों का निराकरण किया। राजीव भवन में मुलाकात के बाद पत्रकारों से चर्चा करते हुए मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया कि अब प्रदेश में ट्रैफिक पुलिस की जांच के नए नियम बनाये गए है। अब चौक-चौराहों पर दोपहिया वाहनों की जांच डीएसपी स्तर के अफसर ही कर सकेंगे। गलती पाए जाने पर सिर्फ चालान काटा जाएगा, नकद राशि नहीं ली जाएगी। वही मंत्री रूद्रकुमार ने लोगो की समस्याओ के निराकरण के लिए कहा कि लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग का प्रयास है कि प्रदेश जनता को पीने का साफ पानी उपलब्ध हो सके। आज पेयजल की समस्याओं के आवेदन पर अधिकारियों को तत्काल पूरा करने के निर्देश दिय
भूपेश सरकार की पहल: जाति प्रमाण पत्र सरलीकरण के लिए प्रदेश सरकार ने पांच सदस्यीय समिति बनाई

भूपेश सरकार की पहल: जाति प्रमाण पत्र सरलीकरण के लिए प्रदेश सरकार ने पांच सदस्यीय समिति बनाई

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | जाति प्रमाण पत्र को लेकर आ रही परेशानियों को दूर करने प्रदेश सरकार ने वरिष्ठ विधायक रामपुकार सिंह की अध्यक्षता में 5 सदस्यीय समिति का गठन किया है। अब समिति झारखंड, ओडिशा का दौरा कर वहां जाति प्रमाण-पत्र बनाने की प्रक्रिया का पहले अध्ययन करेगी फिर छत्तीसगढ़ सरकार को सुझाव देगी। समिति में ननकी राम कंवर, पुन्नूलाल मोहले, भुनेश्वर बघेल, मनोज मंडावी सहित अजा/जजा विभाग के सचिव और संचालक भी सदस्य के रूप में रहेंगे। समिति को 3 माह में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है। दरअसल, प्रदेश में बड़ी संख्या में अजा और अजजा वर्ग के लोग निवास करते हैं। लेकिन कई के जाति प्रमाण पत्र न बन पाने की बड़ी वजह भू-अभिलेख का अभाव होता है। ऐसे लोग बड़ी संख्या में है जो अजा अथवा अजजा वर्ग के हैं पर उनके पास मान्य प्रावधानों के अनुरूप आवश्यक अभिलेख नहीं है। यह समिति इस मामले को लेकर अध्यय
शर्मनाक: गैंगरेप के आरोपी जेल में, केस दबाने के प्रयास पर ग्रामीणों से पूछताछ शुरू

शर्मनाक: गैंगरेप के आरोपी जेल में, केस दबाने के प्रयास पर ग्रामीणों से पूछताछ शुरू

chhattisgarh
राजनांदगाव (एजेंसी) | डोंगरगांव के चारभाठा में 10 साल की बच्ची से हुए गैंगरेप के मामले में पुलिस ग्रामीणों से पूछताछ कर रही है। मंगलवार को कुछ ग्रामीणों से बयान लिया गया व गांव में हुई मीटिंग के संबंध में पुलिस ने जानकारी जुटाई। अगले दिन भी कुछ ग्रामीणों से मामले में पूछताछ किए जाने की बात पुलिस ने कही है। गैंगरेप की घटना 14 जुलाई से हुई थी, इसके बाद परिजन सीधे थाने नहीं पहुंचे थे। ग्रामीण स्तर पर मामले को सुलझाने के लिए बैठक रखी गई थी। इसे पॉक्सो एक्ट का उल्लंघन माना जाता है। इसे ही ध्यान में रखकर अब पुलिस बैठक रखने वालों सहित बैठक में हुई चर्चाओं की जानकारी जुटा रही है। घटना के बाद मामले को ग्रामीण स्तर पर ही दबाने का प्रयास किया जा रहा था। लेकिन बैठकों में बात नहीं बनी और मामला थाने तक पहुंचा। मामला दबाने के लिए कौन- कौन प्रयासरत थे और बैठकें किन-किन के दबाव में रखी गई थी, इसकी जांच क
बिलासपुर हाईकोर्ट: 15 हजार शिक्षकों की भर्ती के विज्ञापन को निरस्त करने की मांग खारिज

बिलासपुर हाईकोर्ट: 15 हजार शिक्षकों की भर्ती के विज्ञापन को निरस्त करने की मांग खारिज

chhattisgarh
बिलासपुर (एजेंसी) | प्रदेश में करीब 15 हजार शिक्षकों की भर्ती के लिए जारी विज्ञापन को निरस्त करने की मांग करते हुए लगाई गई अपील हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है। हाईकोर्ट ने दो विषयों में आवेदकों को शैक्षणिक योग्यता में दी गई छूट को अनुचित बताते हुए दिए गए तर्क को नामंजूर कर दिया। राज्य शासन ने 9 मार्च 2019 को प्रदेश के विभिन्न जिलों में शिक्षकों के करीब 15 हजार पदों पर भर्ती के लिए मार्च 2019 में विज्ञापन जारी किया था। शिक्षा विभाग में व्याख्याता, शिक्षक और सहायक शिक्षकों के पदों पर भर्ती होगी। इसके लिए बीएड, डीएड और टीईटी अनिवार्य योग्यता निर्धारित किए गए हैं। वहीं, एग्रीकल्चर और फिजिकल एजुकेशन विषय में बीएड, डीएड और टीईटी को अनिवार्य योग्यता के रूप में छूट दी गई है। इस छूट को नियमविरुद्ध बताते हुए हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई थी, लेकिन यह 14 मई 2019 को खारिज कर दी गई। याचिका खारिज करने के
बिलासपुर हाईकोर्ट: प्रदेश में बढ़ रहे जल संकट और उद्योगों को ज्यादा पानी देने के मामले में 2 सप्ताह बाद होगी सुनवाई

बिलासपुर हाईकोर्ट: प्रदेश में बढ़ रहे जल संकट और उद्योगों को ज्यादा पानी देने के मामले में 2 सप्ताह बाद होगी सुनवाई

chhattisgarh
बिलासपुर (एजेंसी) | प्रदेश में लगातार गहरा रहे जल संकट, पीने के पानी का खराब हो रहा स्तर, जल संचय की दिशा में उचित प्रयास नहीं करने, उद्योगों को पानी की अधिक सप्लाई सहित अन्य मुद्दों को लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका लगाई गई है। हाईकोर्ट ने पिछली सुनवाई के दौरान राज्य शासन को स्टेटस रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा था। मंगलवार को याचिकाकर्ता के नहीं उपस्थित होने के कारण सुनवाई दो सप्ताह के लिए बढ़ा दी गई। अंबिकापुर में रहने वाले आरएन गुप्ता जल विशेषज्ञ हैं, उन्होंने हाईकोर्ट में जनहित याचिका प्रस्तुत कर प्रदेश में लगातार बढ़ रहे जल संकट, उद्योगों को अधिक पानी देने की वजह से पीने के पानी की हो रही कमी, जल संचय की दिशा में पर्याप्त प्रयास नहीं करने सहित पानी को लेकर कई अहम मुद्दे उठाए हैं। याचिका पर प्रारंभिक सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता द्वारा उठाई गई समस्याओं पर राज्य शासन को अ
अंबिकापुर: पुलिसकर्मियों पर हत्या का केस दर्ज नहीं हुआ दूसरे दिन भी रोड पर शव रखकर चक्काजाम

अंबिकापुर: पुलिसकर्मियों पर हत्या का केस दर्ज नहीं हुआ दूसरे दिन भी रोड पर शव रखकर चक्काजाम

chhattisgarh
अंबिकापुर (एजेंसी) | चोरी के मामले में पूछताछ के लिए बुलाए गए भटगांव थाना क्षेत्र के ग्राम अघिना निवासी  पंकज कुमार बेक की अंबिकापुर में पुलिस कस्टडी में मौत के मामले में विवाद नहीं थम रहा है। सोमवार को अंबिकापुर में चक्काजाम व प्रदर्शन के बाद मंगलवार को भी पूरा गांव बतरा-भैयाथान सड़क पर उतर गया। मामले में परिजन व ग्रामीण सड़क पर  शव रखकर पुलिसकर्मियों पर हत्या का केस दर्ज करने सहित 50 लाख रुपए मुआवजा व परिवार के एक सदस्य को नौकरी की मांग कर रहे थे। विरोध-प्रदर्शन व नारेबाजी के कारण सुबह से  दोपहर एक बजे तक गांव में तनाव की स्थिति बनी रही। किसी अप्रिय घटना से निपटने प्रशासन व पुलिस की तरफ से पूरे गांव में बड़ी संख्या में फोर्स लगाया गया था। इसके साथ सरगुजा सहित सूरजपुर व बलरामपुर जिले के एसपी भटगांव में डटे रहे। परिजन व ग्रामीण मांग पूरी हुए बिना शव का अंतिम संस्कार करने को तैयार नहीं थे।
Video: जिले के दो शिक्षित दिव्यांगों ने भेंट वार्ता में पहुच कलेक्टर से मांगा रोजगार, अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति के दम पर अपने पैरों में होना चाहते है खड़े

Video: जिले के दो शिक्षित दिव्यांगों ने भेंट वार्ता में पहुच कलेक्टर से मांगा रोजगार, अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति के दम पर अपने पैरों में होना चाहते है खड़े

chhattisgarh
बालोद (एजेंसी) | "कहते हैं दिव्यांग का अर्थ शारीरिक दुर्बलता नही, बल्कि मानसिक अपंगता है, यदि दृढ़ इच्छाशक्ति हो तो कोई भी अवरोध हमारा मार्ग अवरुद्ध नही कर सकता".....उक्त लाइन उन सभी दिव्यांगों को समर्पित है जो अपने अंदर दृढ़ इच्छाशक्ति रख कुछ भी कर गुजरने का हौसला रखते है। जो ज़िंदगी के हर वह मुकाम हासिल करना चाहते है, जिसका सपना हर आम आदमी देखता हैं। दिव्यांग होने का यह कतई मतलब नही की आप कुछ नही कर सकते। हर मन मे दृढ़ इच्छाशक्ति और लगन हो तो हर मुकाम हासिल किया जा सकता हैं। ऐसी ही कुछ मिसाल जिले के 2 पढ़े लिखे दिव्यांगों की हैं। जो सामान्य आदमी की तरह अपने पैरों पर खड़े होकर कुछ करना चाहते है, किसी पर बोझ नही बनना चाहते हैं। जी हां एक जो दृष्टहीन है और एक पैरों से अपंग। दिव्यांग दृष्टहीन कमलेश दास मानिकपुरी और दिव्यांग राजेश्वरी साहू रोजगार की मांग को लेकर सोमवार को कलेक्टोरेट में आयोजित